कैसा होता अगर अखंड भारत आज भी होता ? Akhand Bharat in Hindi

Akhand Bharat in Hindi

अखंड भारत का बंटवारा । Akhand Bharat in Hindi

 

  • भारत – पाकिस्तान का बंटवारा :-

 

अगर अखंड भारत आज भी होता तो इतिहास का सबसे भयानक घटना भारत – पाकिस्तान का बंटवारा कभी नहीं होता। 15 अगस्त संन 1947 भारत को अंग्रेजो से आजादी तो मिल गयी लेकिन इसी के साथ-साथ भारत और पाकिस्तान का बंटवारा भी हो गया।

 

बहुत ही कम समय में करोड़ो की संख्या में लोग अपने घर-बार छोड़कर पाकिस्तान से हिंदुस्तान और हिंदुस्तान से पाकिस्तान चले गये। यह संख्या लगभग डेढ़ करोड़ की थी जिसमें 75 लाख से भी ज्यादा मुसलमान हिंदुस्तान छोड़कर पाकिस्तान चले गए और लगभग उतने ही हिंदू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत चले आये।

 

वह दिन भारत के इतिहास का सबसे काला दिन था क्योंकि इतने कम समय में इतने सारे लोगों का स्थानांतरित होना दुनिया के इतिहास में इससे पहले कभी नहीं हुआ था।




  • भारत-बांग्लादेश का बंटवारा :-

 

पाकिस्तान अलग होने के कुछ ही सालों बाद दूसरा बंटवारा हुआ बांग्लादेश यानि पूर्वी – पाकिस्तान का। साल 1971 में पूर्वी – पाकिस्तान अलग हुआ जिसे आज हम बांग्लादेश के नाम से जानते हैं।

 

इस दौरान भी वही हुआ जो भारत – पाकिस्तान के बंटवारे के समय हुआ था। न जाने कितने लोग मारे गए, कितने लोग अपने घर बार छोड़कर एक जगह से दूसरी जगह चले गए। तो अगर अखंड भारत आज भी होता तो यह दुनिया में एक लौता ऐसा देश होता जहां पर सभी धर्मों साथ मिलकर रहते।

 

आजादी को सिर्फ के 2 महीने बाद ही कश्मीर को लेकर पहला युद्ध हुआ। उसके बाद 1965 में भारत और पाकिस्तान के बीच और फिर 1971 में भारत, पाकिस्तान और पूर्वी पाकिस्तान यानी बांग्लादेश के बीच युद्ध हुआ। यह तो होना ही था अगर धर्म के नाम पर देश भाग होंगे तो युद्ध होगा ही।

 

  • 1999 का कारगिल युद्ध :-

 

इसके बाद कारगिल को लेकर पाकिस्तान और भारत के बीच सन 1999 में युद्ध हुआ और इन युद्ध में न जाने कितने लाखों लोगों की मौत हुई। तो अगर अंग्रेजों ने अखण्ड भारत का विभाजन नहीं किया होता तो ना तो इतने सारे युद्ध होते और न ही इतने जाने जाती।

 

  • अखंड भारत की नोट ( Akhand Bharat Currency) :-

 

अभी अगर नोट की बात करे तो हमारे भारतीय नोटों पर हिंदी, अंग्रजी, बंगला समेत कुल 17 भाषाएं होती हैं लेकिन अगर अखंड भारत होता तो कुछ भाषाएं और जुड़ जाते।

 

अगर आप Indian Currency के बारे में पढ़ना चाहते है तो नीचे Click करे, आपको बोहुत सी जानकारिया मिल जायेगी।

 

  • अखंड भारत की समुद्री तट यानि Coastline :-

 

अब बात करते है अखंड भारत की दरियाई सीमा कैसा होता।

  • भारत की दरियाई सीमा 7000 किलोमीटर,
  • पाकिस्ता की दरियाई सीमा 1046 किलोमीटर,
  • श्री लंका की दरियाई सीमा 1340 किलोमीटर और
  • बांग्लादेश के पास 580 किलोमीटर की कुल दरियाई सीमा है।

आफ्गानिस्ता, नेपाल और भूटान के पास कोई दरियाई सीमा नही है।

 

तो अगर आज अखंड भारत होता तो हमारे पास पाकिस्तान के “जीवानी” से लेकर बांग्लादेश के “दक्खिनपारा” तक कुल 9,966 किलोमीटर की दरियाई सीमा होती।।

 

इससे आफ्गानिस्तान, नेपाल और भूटान जैसे देशों को भी फायदा होता। वो भी हमारे साथ मिलकर दूसरे देशों के ब्यापार कर पाते।




  • कितने बंदरगाह होते अखंड भारत के पास ?

 

अगर दरियाई सीमा की बात कर ही रहे है तो फिर बंदरगाह के बारे में थोड़ा जान लीजिए। इतनी बड़ी दरियाई सीमा होने के वजह से हमारे पास ज्यादा बंदरगाह होते, जिससे हम ज्यादा से ज्यादा import-export कर पाते हैं। जिससे हमारी आर्थिक स्थिति और भी बेहतर होती।

 

इतने बड़े दरियाई सीमा होने के कारण अखंड भारत के पास 13 बंदरगाह होते। जिसमें से

  • भारत के पास 7 बंदरगाह,
  • पाकिस्तान के पास 2,
  • बांग्लादेश के पास 3 और
  • श्रीलंका के 1 बंदरगाह होते।

तो कुल मिलाकर 13 बंदरगाह भारत के पास जिससे हम ज्यादा से ज्यादा सामान की हेराफेरी कर पाते पाते हैं।

 

  • अखंड भारत के पास व्यापारिक जहाज कितने होते ?

 

तो अगर अखंड भारत होता तो कितने व्यापारिक जहाज हमारे पास होते ? अगर बंदरगाह ज्यादा होते तो व्यापारिक जहाज फिर ज्यादा ही होता।

 

अभी

  • पाकिस्तान के पास 52 व्यापारिक जहाज है,
  • भारत के पास 1675 व्यापारिक जहाज है,
  • बांग्लादेश के पास 306 व्यापारिक जहाज है और
  • श्रीलंका के पास 80 व्यापारिक जहाज है

तो कुल मिलाकर 2100 जितने व्यापारिक जहाज अखंड भारत के पास होता।।

 

  • Railway Coverage में अखंड भारत का स्थान क्या होता ?

अगर कुल मिलाकर देखे तो

 

  • पाकिस्तान का 7800 किलोमीटर Railway network
  • भारत का 1,21,000 किलोमीटर Railway network
  • नेपाल का 53 किलोमीटर Railway network
  • बांग्लादेश का 2800 किलोमीटर Railway network
  • श्री लंका का 1500 किलोमीटर Railway network है।

 

कुल मिलाकर 1,33,000 किलोमीटर से भी ज्यादा अखंड भारत का Railway Coverage होता, जो दुनिया में Russia के बाद दूसरे स्थान पर आता, मतलब China से भी आगे।

 

वैसे मैंने भारतीय रेलवे के ऊपर भी एक आर्टिकल लिखा है अगर आप चाहे तो पढ़ सकते है, कुछ नही बस आपको कुछ नया जानने को मिलेगा।।

 

Roadway :- अब अगर Roadway coverage की बात करे तो

  • अफगानिस्तान के पास 42,000 किलोमीटर
  • पाकिस्तान के पास 263,000 किलोमीटर
  • भारत के पास 56,03,000  किलोमीटर
  • नेपाल के पास 17,000 किलोमीटर
  • बांग्लादेश के पास 21,000 किलोमीटर
  • भूटान के पास 8,000 किलोमीटर और
  • श्रीलंका के पास 12,000 किलोमीटर

की Roadway coverage है।



तो अगर अखंड भारत तो इस का कुल Roadway coverage 59,66,000 किलोमीटर होता और अखंड भारत का स्थान दुनिया में पहला होता। चीन और रूस से भी बोहुत ज्यादा।

तीसरे पन्ने पर जाये।।

NEXT PAGE—->

Share Now

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!